Makar Sankranti Puja पुणे (भारत)

Hindi Talk

आज का दिन पृथ्वी के उत्तर भाग में महत्त्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि सूर्य दक्षिण से उत्तर में आता है। इसलिये नहीं कि ये हम कर रहे हैं। हर साल एक ही तारीख जो कि सूर्य के ऊपर कार्य हम करते हैं,  तो हम लोग उसको क्यों इतना मानते हैं? क्या विशेष बात है कि सूर्य अगर उत्तर में आ गया, तो हम लोगों को उसमें इतनी खुशी क्यों? बात ये है कि सूर्य से ही हमारे सब कार्य जो हैं प्रणीत होते हैं। अँधेरे में, […]

Public Program, Sarvajanik Karyakram कोलकाता (भारत)

Public Program

सत्य
को खोजने वाले आप सभी साधकों
को हमारा प्रणाम

इस
कलियुग में मनुष्य जीवन की
अनेक समस्याओं के कारण विचलित
हो गया है,
और
घबरा रहा है। कलियुग में जितने
सत्य को खोजने वाले हैं,
उतने
पहले कभी नहीं थे और यही समय
है जबकि आपको सत्य मिलने वाला
है। लेकिन ये समझ लेना चाहिए
कि हम कौनसे सत्य को खोज रहे
हैं ?
क्या
खोज रहे हैं?
नहीं
तो किसी भी चीज़ के पीछे हम लग
करके ये सोचने लग जाते हैं कि
यही सत्य है। इसका कारण ये है, […]

Shri Mahavira Puja (भारत)

श्री महावीर पूजा, नयी दिल्ली, भारत
कह रहे है की आज महावीर जयंती है। बड़ा अच्छा दिन है। और महावीर जी जो थे, वो हमारी इडा नाडी पर उनका राज्य है। और हमारे अंदर जो संस्कार, कुसंस्कार ये सब होते है उसको वो ठीक करते है। और उन्होंने नर्क की व्याख्या की है। नर्क के बारे में बताया की नर्क क्या है। मनुष्य नर्क में जाता है, तो उसका क्या हाल होता है और उसकी क्या दुर्दशा होती है, […]

Shri Mahalakshmi Puja, The Universal Love (भारत)

Shri Mahalakshmi Puja. Kalwe (India), 30 December 1992.
[Shri Mataji speaks English]
[Shri Mataji speaks MARATHI]
अब इनको हिंदी में बता रही हूँ। मराठी लोगोंको सच मानना चाहिये की इनकी भाषा बहुत हि बढिया भाषा हें, आत्मानुभूती के लिये, इसमें कोई शक नहीं। इससे ज्यादा किसी भी भाषा में स्पष्ट रुपसे लिखा नही गया। और इसमे गणेश जी का आदर करने की वजह से लोग जो है चरित्रवान है, वैसे देखे जाए तो। उनकी आखें इधर उधर घुमती नही। नॉर्थ इंडिया में मुसलमानोंका राज्य आनेसे वो पडदा के सिस्टम् से, […]

Birthday Puja Talk (भारत)

Birthday Puja, Delhi, India, 3rd of Octoer, 1991
आज आप लोगों ने मेरा जन्म-दिवस मनाने की इच्छा प्रगट की थी I अब मेरे कम-से-कम चार या पांच जन्म-दिवस मनाने वाले हैं लोग I इतने जन्म-दिवस मनाइएगा उतने साल बढ़ते जाएंगे उम्र के I लेकिन आपकी इच्छा के सामने मैंने मान लिया कि इसमें आपको आनंद होता है, आनंद मिलता है तो ठीक है I
लेकिन ऐसे दिवस हमेशा आते हैं I उसमें एक कोई तो भी नई चीज हमारे जीवन में होनी चाहिए, […]

Birthday Puja मुंबई (भारत)

Birthday Puja. Mumbai, Maharashtra (India). 21 March 1979.

[Hindi Transcript]

आज …. (inaudible-Shri Mataji is describing what day it was) है। मेरा मन उमड़ आता है। आज तक लगातार बम्बई में ही ये जन्मदिवस मनाया गया। बम्बई में बहुत मेहनत करनी पड़ी है, सबसे ज्यादा बम्बई पर ही मेहनत की। लोग कहते भी हैं कि,”माँ, आखिर बम्बई में आपका इतना क्या काम है?“ पहले तो यहाँ पर रहना ही हो गया था, लेकिन बाद में भी बम्बई में काम बहुत हो सकता है, […]

महाशिवरात्री पूजा-उत्पत्ति, आदिशक्ति और शिव मुंबई (भारत)

1976-02-29 Mahashivaratri Puja: Utpatti – Adi Shakti aur Shiva ka Swaroop, Mumbai, महाशिवरात्री पूजा-उत्पत्ति, आदिशक्ति और शिव मुंबई २९/२/७६

आप से पहले मैने बताया उत्पत्ति के बारे में क्योंकि महाशिवरात्रि के दिन जब शिवजी की बात करनी है तो उसका प्रारंभ उत्पत्ति से ही होता है इसलिए वह आदि है । पहले परमेश्वर का जब पहला स्वरूप प्रगटीत होता है, याने मॅनिफेस्ट होता है जब की वह ब्रह्म से प्रकाशित होते है, उस वक्त उन्हे सदाशिव कहा जाता है । इसलिए शिवजी जो है, […]

Talk to Sahaja Yogis मुंबई (भारत)

1975-0331 Advice at Bhartiya Vidya Bhavan 

आप लोग जो पहले ध्यान में आये थे तो आपसे मैंने बताया था कि परमात्मा के तीन आस्पेक्ट होते हैं,  और इसी कारण उनकी तीन शक्तिया संसार में कार्य करती हैं।  पहली शक्ति का नाम महालक्ष्मी,  दूसरी का महासरस्वती, तीसरी का महाकाली।  उसमें से महाकाली की शक्ति हर एक जड़ जीव,  हर एक पदार्थ में प्रणव रूप से है।  प्रणव रूप से रहती है, माने जिसे हम अभी वाइब्रेशन कह रहे हैं जो आपके हाथ से निकले हैं, इसी रूप में। जो सिर्फ मनुष्य के ह्रदय में और प्राणी मात्र के ह्रदय में ये शक्ति स्पनदित है, पलसेट (pulsate) करती है। जब वो शक्ति जड़ चीजो में रहेती है महाकाली की वो शक्ति जो जड़ चीजो में रहेती है  तो वही प्रणव एलेक्ट्रोमेग्नटिक वाइब्रेशन  (electromagnetic vibration) की तोर पर दिखाई देता है। जब वो शक्ति जिवित चीज में जागृत होती है तब वो स्पंदन पल्सेसन की तरह से दिखाई देता है। (डॉक्टर आप के लिये खास कर बोल रहे हैं,  आज का इधर आइये) पर महाकाली की जो शक्ति है उसी शक्ति से सारी श्रुष्टि का संचार होता है।  […]

Teen Shaktiya मुंबई, Dadar (भारत)

TEEN SHAKTIYAN, Date: 21st January 1975, Place: Dadar, Type: Seminar & Meeting

[Hindi Transcript]

जैसे कोई
माली बाग लगा देता है और
उस पे प्रेम से सिंचन करता है
और उसके बाद देखते रहता है कि
देखें कि बाग में
कितने फूल खिले खिल
रहे हैं। वो देखने
पर जो आनन्द एक माली
को आता है उसका क्या वर्णन हो
सकता हे! कृष्ण
नाम का अर्थ होता है कृषि से”,
कृषि आप
जानते है खेती को
कहते हैं। कृष्ण
के समय में खेती हुई
थी और क्राइस्ट
के समय में उसके खून
से सींचा गया था। इस संसार की
उर्वरा भूमि को
कितने ही अवतारों
ने पहले संबारा हुआ था।
आज कलियुग में ये समय आ गया है
कि उस खेती की बहार देखें, […]

Public Program (भारत)

1973-0125 Public Program, Bordi (Hindi)

सो आपके स्वादिस्ठान चक्र में अगर कुछ गरबड हो तो आप ये अंगूठे से ठीक कर सकते हो. अंगूठे से. अब आपको अपना महत्व देखना है की आप क्या है.?  आप शीशे के सामने खड़े हो जाये ऐसे पोज करके, आपमें चेंज आना शुरु हो जायेगा. आपका जो रिफ्लेक्सन शीशे में पड रहा है उसीसे आप समझ सकते है की आप क्या चीज है ? अपना खुद ही प्रतिबिंब देखे आप शीशे में और देखते रहे. […]

Unidentified Talk (Extract on Agnya Chakra) (भारत)

1970-0101 Unidentified Hindi Talk (Extract on Agnya Chakra)

बैठे
थे,
प्रोग्राम
में आये थे,
तो
भी कुछ न कुछ अपनी विपदा सोचते
रहे । अरे
!
मेरे
साथ ये हुआ,
मेरे
साथ वो हुआ,
ऐसा
हुआ,
वैसा
हुआ ।
और माताजी से मैं कब बताऊं,
मेरी
विपदा क्या हुई?
माताजी
आप देवी हैं,
मेरी
ये विपदा है|
बजाय
उसके कि जो कहे जा रहे हैं उसको
समझें,
अपनी
ही अंदरूनी बात को ही सोच-सोच
करके आप चली गई उस बहकावे में
।  […]