Unidentified Talk (Extract on Agnya Chakra) New Delhi (भारत)

1970-0101 Unidentified Hindi Talk (Extract on Agnya Chakra)

बैठे
थे,
प्रोग्राम
में आये थे,
तो
भी कुछ न कुछ अपनी विपदा सोचते
रहे । अरे
!
मेरे
साथ ये हुआ,
मेरे
साथ वो हुआ,
ऐसा
हुआ,
वैसा
हुआ ।
और माताजी से मैं कब बताऊं,
मेरी
विपदा क्या हुई?
माताजी
आप देवी हैं,
मेरी
ये विपदा है|
बजाय
उसके कि जो कहे जा रहे हैं उसको
समझें,
अपनी
ही अंदरूनी बात को ही सोच-सोच
करके आप चली गई उस बहकावे में
।  […]

Unidentified Talk (extract on Swadishthana) (भारत)

1979-0101 Unidentified Hindi Talk (extract on Swadishthana)

स्वाधिष्ठान चक्र. इस चक्र का तत्व है कि आप सूजनशाली हो जाते हैं आपकी सूजनता बहुत बढ़ जाती है. ऐसे लोग जिन्होंने कभी एक लाइन भी स्वतंता नहीं लिखी, वह काव्य लिखने लगते हैं. जिन लोगों ने कभी भाषण नहीं दिया वह बड़े भाषण देने लग जाते हैं और जिन लोगों ने कभी पेंटिंग नहीं करी, कुछ कला नहीं देखी वह कलात्मक हो जाते हैं. बहुत सुजन हो जाते हैं. […]