Guru Puja: Awakening the Principle of Guru Lodge Hill Centre, Pulborough (England)

गुरु पूजा                             
“गुरु के सिद्धांत को जागृत करना”
लॉजहिल (यूके), 24 जुलाई 1983

आज आप सभी यहाँ गुरु पूजा करने के लिए एकत्रित हुए हैं। आपकी गुरु, पहले एक माँ है और फिर एक गुरु है और इस बात ने मेरी बड़ी मदद की है। हमने पहले भी कई गुरु पूजन किए हैं, ज्यादातर इंग्लैंड में। और आपको आश्चर्य होना चाहिए कि माँ हमेशा किसी भी तरह गुरु पूजा लंदन में क्यों कर रही हैं। समय चक्र हमेशा इस तरह से चलता है कि, […]

Guru Purnima Seminar Part 2: Assume your position Lodge Hill Centre, Pulborough (England)

                                      ऋतुम्भरा प्रज्ञा – भाग II

 लॉज हिल (यूके), गुरु पूर्णिमा सेमिनार, 23 जुलाई, 1983।

सहज योगी गाते हैं |

भय काय तया प्रभु ज्याचा रे  (x4)

जब हम भगवान से संबंधित हैं, तो डरने की क्या बात है?

सर्व विसरली प्रभुमय झाली  (x2)

हम दिव्यता में सब कुछ भूल जाते हैं

पूर्ण जयाची वाचा रे (x2)

और हम परमात्मा में पूरी तरह खो जाते हैं

भय काय तया प्रभु ज्याचा रे (x4)

जब हम भगवान से संबंधित हैं, […]