Mahashivaratri Puja Pune (India)

Mahashivaratri Puja, Pune (India), 15 February 2004
Hindi Talk followed by English Talk
(Hindi transcript to go here)
English Talk
This is a subject which you can only explain in Hindi language. Which says that this Guru pad (state of Guru) you get from somebody else. But that somebody else is itself, is endowed with, the power, the power of peace of mind, to begin with, and also the power to overcome all kinds of earthly problems, […]

Mahashivaratri Puja (Pune)

Shivaratri Puja, Pune (India), 16 March 2003.
Shri Mataji is silent for about six minutes before speaking.
Today we are going to worship Shri Shiva, Sadashiva. His quality is that He is forgiveness personified. The amount of forgiveness He has, has helped many of us to exist, otherwise this world would have perished, so many would have been finished because you know what is the condition of human beings. They don’t understand what is wrong, what is right. […]

Mahashivaratri Puja Pune (India)

Shivaratri Puja, Pune, India, 5 March 2000.
First, I’ll speak in English language, because we have so many people from foreign countries, and especially from Madras (Chennai) and also from Kerala, Hyderabad and Bangalore. All these people have come here, and I don’t know what other people are here, who have come from South and who do not yet understand Hindi language.
This Shivaratri has a special meaning, I think, because there is so much – if you read any newspaper in the morning, […]

Mahashivaratri Puja New Delhi (India)

Shri Siva puja. Delhi (India), 14 February 1999.
TRANSLATION:
Today we have assembled here to do the puja of Shri Maha Deva – Shri Shiv Shankara. Because of Adi Shankaracharya’s emphasis people have taken up the Puja of Shiva in a big way. In Southern India two sects have come up: one is Shaivites and the other is Vaishnavites. Shaivites are the worshippers of Lord Shiva and the Vaishnavites are those who worship Lord Vishnu. In our country we are very expert in dividing ourselves. […]

Mahashivaratri Puja New Delhi (India)

Shivaratri Puja (English part), Delhi (India), 16 March 1997.
First, I speak in Hindi language and then in English.  We are such a cosmopolitan people that I don’t know what language to take to.
[Shri Mataji speaks in Hindi]
I am talking to them about Shiva’s worship – what should happen to you.  But today, I am going to tell you about the internal happening within us when you get your realization.  There are eleven rudras placed here – eleven rudras.  […]

Mahashivaratri Puja Sydney (Australia)

श्रीशिवजी पूर्णतया अनासक्त हैं ……
(महाशिवरात्रि पूजा, सिडनी, 3 मार्च 1996)
सहजयोगियों के रूप में आपको छोटी-छोटी चीजों को ज्ञान होना आवश्यक है, बड़ी-बड़ी चीजों का ज्ञान होना भी आवश्यक है। उस महान दृष्टि के कारण जिससे आप परमात्मा के साम्राज्य में पहुंच चुके हैं। मैं कह सकती हूं कि आप वहां प्रवेश पा चुके हैं। मैं कह सकती हूं कि आपने वह अवस्था प्राप्त कर ली है। परंतु अभी भी आप वहां नहीं हैं। ये ऐसा ही है कि यदि मैं किसी से कहूं कि आप अब ऑस्ट्रेलिया में हैं लेकिन वह आस्ट्रेलिया में है ही नहीं लेकिन मैं कहूं कि तुम आस्ट्रेलिया में ही हो तो वह इसका विश्वास कर लेगा कि वह आस्ट्रेलिया में है। लेकिन यह गलत है। आपको आस्ट्रलिया में होना होगा और फिर आस्ट्रेलिया के बारे में जानना होगा कि वहां की जलवायु कैसी है … […]

Navaratri Puja Geneva (Switzerland)

(नवरात्रि पूजा, देवी देवता आपको देख रहे हैं (आर्जियर जिनेवा ( स्विटजरलैंड), 23 सितंबर 1990)
इन नौ दिनों में देवी को रात के समय अपने बच्चों की नकारात्मकता के प्रभावों से रक्षा करने के लिये राक्षसों से युद्ध करना पड़ता है। एक ओर तो वह प्रेम व करूणा का अथाह सागर हैं तो दूसरी ओर वह शेरनी की तरह अपने बच्चों की रक्षा करती हैं। पहले के समय में कोई ध्यान धारणा नहीं कर पाता था, […]

Mahashivaratri Puja Mumbai (India)

Shivaratri Puja, Bombay (India), 14 February 1988.
This part was spoken in Hindi
Today we are all come together to celebrate the Shiva Tattwa Puja.  Nowadays, in Sahaja Yoga, what we have achieved is by the Grace of the Shiva Tattwa.  Shiva Tattwa is the ultimate goal (establishment, completion) of pure desire. When the Kundalini gets awakened in us, pure desire takes us near and keeps us at the Shiva Tattwa. Beyond Shiva Tattwa is the safe refuge of the Atma.  […]

Navaratri Puja (England)

नवरात्रि पूजा, हैंपस्टड, लंदन 23 सितंबर)
हम नवरात्रि का त्योहार क्यों मनाते हैं? हृदय में देवी की शक्तियों को जागृत करना ही नवरात्रि मनाना है… जो शक्ति इन सभी 9 चक्रों में है उसको जानना और जब वे जागृत हो जांय तो आप स्वयं के अंदर उन 9 चक्रों की शक्तियों को किस प्रकार से अभिव्यक्त करना हैं। सात चक्र और हृदय और चांद मिलाकर ये 9 चक्र हुये। परंतु मैं कहूंगी कि ये सात और इनके ऊपर दो अन्य चक्र जिनको विलियम ब्लेक ने भी आश्चर्यजनक व स्पष्ट रूप से 9 ही कहा था। इस समय मैं आपको उन दो ऊपर के चक्रों के विषय में नहीं बता सकती। क्या इन चक्रों की शक्तियों को हमने अपने अंदर जागृत कर लिया है? […]

Mahashivaratri Puja (India)

Shivaratri Puja
आपके अंदर इस अनासक्ति को आना होगा …. इसमें थोड़ा समय लगता है। खासकर भारतीय लोगों में …. जो हर समय अपने बच्चों, माता और पिता के बारे में चिंतित रहते हैं और ये चलता रहता है। वर्षों तक मेरा बेटा … मेरी बेटी … मेरे पिता … पूरे समय ये चलता रहता है। अब परमात्मा की कृपा से कई लोग अपने दायित्वों से छुटकारा प्राप्त कर चुके हैं … सहजयोग के माध्यम से या जिस प्रकार से भी (श्रीमाताजी हंसती हैं)। जो लोग भी अब सहजयोग में आ रहे हैं कि हमें सहजयोग के आशीर्वाद प्राप्त करना है … […]